मिड-डे मील मर्डर: बीमार बच्चों को दिल्ली क्यों नहीं ले जा रहे हैं नीतीश


function name : gab_postmeta_detail
Niticentral Staff18 Jul 2013

 
0
http://www.niticentral.com/emailshare/emailshare.php?pid=105853&url=http://www.niticentral.com/2013/07/18/mid-day-meal-tragedy-bring-the-inhuman-face-of-nitish-hindi-105853.html&title=मिड-डे मील मर्डर: बीमार बच्चों को दिल्ली क्यों नहीं ले जा रहे हैं नीतीश&id=nc


मिड-डे मील मर्डर: बीमार बच्चों को दिल्ली क्यों नहीं ले जा रहे हैं नीतीशबिहार में सारण जिले के मशरक प्रखंड में नवसृजित प्राथमिक विद्यालय धरमसती, डंडामन में मिड डे मील खाने के कारण 22 बच्चों की दुखद मौत के बाद अब मांग हो रही है कि बीमार बच्चों को उचित इलाज के दिल्ली भेजा जाए। पर,इस मांग पर बिहार सरकार या मुख्यमंत्री ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। मुख्यमंत्री ने घटना पर रस्मी दुःख व्यक्त करा, पर बीमार बच्चों को दिल्ली ले जाने को लेकर कोई फैसला नहीं लिया। मध्याह्न् भोजन खाने के कारण अभी भी 35 से ज्यादा बच्चों बीमार हैं।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पीएमसीएच पहुंचकर बीमार बच्चों और उनके परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने अस्पताल परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार सरकार को अब राज्य के लोगों से कुछ लेना-देना नहीं है। ।

बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग की है। भाजपा नेता और पूर्व मंत्री गिरिराज सिंह ने इस घटना के लिए मुख्यमंत्री को दोषी बताया और उन्हें अक्षम मुख्यमंत्री कहा। उन्होंने कहा कि घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने मृतक के परिजनों को 10-10 लाख रुपए बतौर मुआवजा देने की मांग की।

नवसृजित प्राथमिक विद्यालय में मंगलवार दोपहर में बच्चों को मध्याह्न् भोजन कराया गया था। भोजन खाने के बाद करीब सभी बच्चों को उल्टी और पेट दर्द शुरू हो गया। मध्याह्न् भोजन में सब्जी और भात बनाया गया था। मशरक थाने में इस मामले की एक प्राथमिकी दर्ज कराई गई है, जिसमें प्रधानाध्यापक सहित कई लोगों को आरोपी बनाया गया है।

राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पीएमसीएच पहुंचकर बीमार बच्चों और उनके परिजनों से मुलाकात की। उन्होंने अस्पताल परिसर में पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि बिहार सरकार को अब राज्य के लोगों से कुछ लेना-देना नहीं है। उन्होंने कहा कि पीडिम्त बच्चों को तत्काल उचित इलाज के लिए विशेष विमान से दिल्ली भेजा जाना चाहिए।

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घटना पर दुख प्रकट करते हुए पूरे मामले की जांच प्रमंडलीय आयुक्त और प्रक्षेत्र के पुलिस उपमहानिरीक्षक से कराने का निर्देश दिया है। उन्होंने मृतक के परिजनों को दो-दो लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की है।

बिहार की मुख्य विपक्षी पार्टी भाजपा ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस्तीफे की मांग की है। भाजपा नेता और पूर्व मंत्री गिरिराज सिंह ने इस घटना के लिए मुख्यमंत्री को दोषी बताया और उन्हें अक्षम मुख्यमंत्री कहा। उन्होंने कहा कि घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री को इस्तीफा दे देना चाहिए। उन्होंने मृतक के परिजनों को 10-10 लाख रुपए बतौर मुआवजा देने की मांग की।

(c) NiTi Digital. Reproduction and/or reposting of this content is strictly prohibited under copyright laws.


 
0
http://www.niticentral.com/emailshare/emailshare.php?pid=105853&url=http://www.niticentral.com/2013/07/18/mid-day-meal-tragedy-bring-the-inhuman-face-of-nitish-hindi-105853.html&title=मिड-डे मील मर्डर: बीमार बच्चों को दिल्ली क्यों नहीं ले जा रहे हैं नीतीश&id=nc


Please read our terms of use before posting comments.