Blogs: राजनीति की भाषा


राहुल कब तक ‘पापा-दादी’ के टिकट पर ‘लोकतंत्र-रेल’ में सफर करेंगे!

राहुल कब तक ‘पापा-दादी’ के टिकट पर ‘लोकतंत्र-रेल’ में सफर करेंगे!

चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आते हैं नेता लोगों को अपनी तरफ खिंचने के लिये भावुक बाते करते हैं। राजनीतिक को नजदीक से समझने और…


आडवाणी का ‘इमोशनल अत्‍याचार’

गोवा में भारतीय जनता पार्टी के…


समाजसेवा के नाम पर ‘आप’ का नाम चमका रहे केजरीवाल

एक समय था जब अरविंद केजरीवाल अनशन का…


मोदी हिट और नीतीश की टांय-टांय फिस्‍स

मेन एग्‍जाम (लोकसभा चुनाव) से पहले हुआ ये उपचुनाव दो बड़े और दिग्‍गज मुख्‍यमंत्रियों के लिये…



archives



सरकार और मौकापरस्त मुलायम: समझौते की सियासत

क्‍या डीएमके की समर्थन वापसी के बाद मनमोहन सिंह के सरकार की उल्‍टी गिनती शुरु हो गई है? कोई कुछ …

जिनके घर शीशे के होते हैं वो दूसरों पर पत्‍थर नहीं मारते

    उत्‍तर प्रदेश की कानून व्‍यवस्‍था बद से बदत्‍तर हो चुकी है। चौतरफा आलोचना से बचने के लिये …

क्‍या सिर्फ नाम का बड़ा है तिहाड़?

देश को झकझोंर कर रख देने वाले दिल्‍ली गैंगरेप मामले के मुख्‍य आरोपी राम सिंह ने आज जेल में …

यूपी में कब बदलेगी जुर्म की सूरत?

कुंडा के डीएसपी जिया उल हक का जनाजा तो उठ गया मगर अपने पीछे कई सवाल छोड़ गया। सवाल ये कि क्‍या …

ट्रेन में चाय-वाय तो ठीक मिलती नहीं, वाय-फाय लगवाएंगे बंसल जी

रेल मंत्री पवन कुमार बंसल ने लोकसभा में रेल बजट पेश कर जनता की नाक सीधे न पकड़ते हुए यात्रियों …

यूपी और केंद्र सरकार की नाकामी से बना ‘ब्‍लैक संडे’

रविवार को कुंभ की खुशियों पर मातम का ग्रहण लग गया। इलाहाबाद रेलवे स्‍टेशन पर भगदड़ के कारण हुए …

राजनाथ की अगुवाई में महाकुंभ से यूपी फतह का आगाज

यह सच है कि पहले से तय किसी बात को सिरे से खारिज हो जाना और दूर-दूर तक जिसकी संभावना ना हो कमान …










Recent Comments






Recent Comments